खेल गया खेल

khel gaya khelये एहसास तो सबको होता रहता था कि वह कोई खेल, खेल रहा है
मगर यह पता नहीं लगता था कि खेल आखिर है क्या और.. जब परिणाम सामने
आता था तो हरेक के मुह से एक ही बात निकलती-थी – खेल गया खेल

102 thoughts on “खेल गया खेल

Leave a Reply

Your email address will not be published.