शीशे की अयोध्या

Sheeshe ki audhiyaएक औरत ने अपने पति की इच्छा पूरी करने के लिए धरती पर अयोध्या का निर्माण किया
लेकिन वो अयोध्या जुर्म की बुनियाद पर कड़ी थी । फिर, उसके बच्चो ने उसके एक-एक
जुर्म को उधेड़ना शुरू किया और उसकी आँखों में ख़ुशी के आंसू आ गए क्यूंकि
यही तोह चाहती थी वह ।

109 thoughts on “शीशे की अयोध्या

Leave a Reply

Your email address will not be published.